जैंत थाना क्षेत्र के नेशनल हाइवे स्थित आझई के पास अवैध रूप से विकसित की जा रही कालोनी पर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों ने पुलिस बल के साथ ध्वस्तीकरण की कार्यवाही की। अधिकारियों ने इस तरह अवैध कालोनी काटने वालों के खिलाफ आगे भी कार्यवाही की चेतावनी दी है। मथुरा-वृंदावन समेत राष्ट्रीय राजमार्ग किनारे इन दिनों अवैध कालोनियों की बाढ़ सी आई हुई है। बिना नक्शा स्वीकृत कराए अवैध रूप से विकसित की जा रही ऐसी कालोनियों के खिलाफ अब विकास प्राधिकरण ने नजरें टेड़ी कर ली हैं
शनिवार को जीएलए यूनिवर्सिटी के पीछे करीब 5000 वर्ग मीटर क्षेत्र में अवैध रूप से विकसित की जा रही कॉलोनी पर विकास प्राधिकरण का बुलडोजर जमकर गर्जा। बुलडोजर द्वारा कॉलोनी में किए गए निर्माण को देखते ही देखते जमींदोज कर दिया ।
एसडीएम निकेत वर्मा ने बताया कि नोटिस देने के बावजूद भी कॉलोनाइजर द्वारा अवैध निर्माण कराया जा रहा था। उसी अतिक्रमण को हटवाया गया है।
प्राधिकरण के सहायक अभियंता राजीव महेश्वरी ने बताया कि भरत शर्मा और फतेह सिंह द्वारा नक्शा स्वीकृत कराए बिना ही फेसबुक के माध्यम से पब्लिक को गुमराह कर प्लॉटों की बिक्री की जा रही थी। सक्षम अधिकारी द्वारा ध्वस्तीकरण के निर्देश दिए गए थे। उन्ही आदेशों के क्रम में यह कार्रवाई की गई है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार अवैध कॉलोनी काटने वाले ऐसे सभी बिल्डरों के खिलाफ कार्रवाई आगे भी जारी रहेगी । वही विकास प्राधिकरण की कार्यवाही से अवैध कॉलोनाइजर एवं बिल्डरों में हड़कंप मचा हुआ है।
सूत्रों के अनुसार जनपद में अवैध कालोनियों भरमार है । लेकिन यदा-कदा ही अधिकारियों द्वारा कार्यवाही की जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.