मथुरा श्री कृष्ण जन्म भूमि पर भी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश के बाद मंदिर की चोटी पर लगे लाउडस्पीकर की आवाज में बदलाव किया गया जिसमें आवाज को कम कर दिया गया लेकिन एक बात और सामने आई थी जिसमें बताया गया था कि श्री कृष्ण जन्मभूमि का लाउडस्पीकर हटा दिया गया है लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ था इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए श्री कृष्ण जन्म स्थान के विशेष कार्य अधिकारी विजय बहादुर ने कहा कि 1550 में लाउड स्पीकर की आवाज को नियंत्रित किया है लाउडस्पीकर से पहले की भांति भजन मंगला आरती ओम विष्णु सहस्रनाम का अभी भी हो रहा है पाठ

वहीं इसी को देखते हुए प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री कृष्ण जन्मभूमि से लगी शाही ईदगाह मस्जिद ने भी लाउड स्पीकर हटा दिया था जिससे की पांच वक्त की होने वाली अजान की आवाज परिसर से बाहर ना जा सके जब रियलिटी चेक किया गया तो कुछ और ही देखने को मिला आपको बताते चलें कि शाही ईदगाह मस्जिद कमेटी द्वारा बताया गया था कि उन्होंने लाउडस्पीकर हटा दिए हैं और आवाज अब परिसर से बाहर नहीं जाएगी लेकिन शनिवार को जब रियलिटी चेक किया गया तो लाउडस्पीकर नहीं हटाया गया और आवाज दूर-दूर तक मस्जिद परिसर से बाहर तक आ रही थी जिसको सुनकर स्थानीय लोगों पर नेताओं में आक्रोश है वहीं स्थानीय लोग और भारतीय जनता पार्टी के लोगों का कहना है कि यह सुप्रीम कोर्ट और सीएम के आदेश का पालन नहीं हो रहा है शाही ईदगाह मस्जिद को आदेश का पालन करना चाहिए जबकि श्री कृष्ण जन्मभूमि परिसर के साउंड की आवाज बाहर नहीं जा रही है लेकिन शाहिद का मस्जिद कमेटी साउंड की आवाज को नियंत्रण नहीं कर रही है अगर जल्द शाही ईदगाह मस्जिद की अजान की आवाज कम नहीं हुई तो जल्द ही हम विरोध प्रदर्शन करेंगे

Leave a Reply

Your email address will not be published.