उत्तर प्रदेश ब्रज विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजा कांत मिश्रा और मथुरा की सांसद हेमा मालिनी के मार्गदर्शन पर ब्रज चौरासी कोस यात्रा का शुभारंभ किया गया जिसमें सांसद हेमा मालिनी ब्रज चौरासी कोस यात्रा कर रही हैं और चौरासी कोस यात्रा के साथ साथ वह उत्तर प्रदेश ब्रिज विकास परिषद द्वारा ब्रज के अंदर और मंदिरों के लिए जो भी कार्य किए गए हैं उनका भी अवलोकन कर श्रद्धालुओं के लिए व्यवस्थाओं को भी देख रही हैं 17 अप्रैल से शुरू हुई चौरासी कोस यात्रा शनिवार को यानी 23 अप्रैल को समाप्त हुई जहां मथुरा के सांसद हेमामालिनी ने गरुड़ गोविंद मंदिर आकर उसके बाद देवराहा बाबा समाधि पर पहुंचकर अपनी यात्रा को विश्राम दिया

लगभग 7 दिन की चौरासी कोस यात्रा में सांसद हेमा मालिनी ने लगभग 401 किलोमीटर की यात्रा तय की जिसमें उन्होंने 43 गांव का भ्रमण किया और 32 पड़ाव स्थल और अष्ठ सखियों के गांव का भी अवलोकन किया

माननीय सांसद मथुरा हेमा मालिनी ने इच्छा व्यक्त की चौरासी कोस परिक्रमा मार्ग में प्रत्येक पड़ाव स्थल पर टॉयलेट, पेयजल व्यवस्था, सोलर लाइट, एप्रोच मार्गो का जीर्णोद्धार और पूरे परिक्रमा मार्ग पर हर किलोमीटर पर साइनेज बोर्ड लगाकर परिक्रमार्थियों को इस तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराई जाए कि चौरासी कोस परिक्रमा मार्ग को विश्व विरासत के नक्शे पर लाया जा सके। वही उत्तर प्रदेश ब्रज तीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजा कांत मिश्र ने अपनी पूरी टीम को निर्देशित किया कि वह चौरासी कोस परिक्रमा मार्ग में किए गए समस्त बिन्दुओ के अध्ययन एवं बारीकियों को डी०पी०आर० में समाहित कराएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.