वृंदावन की कांशीराम आवासीय कॉलोनी में आग की लपटों से मची चीख पुकार

एक परिवार के चारों सदस्य झुलसे, हालात गंभीर

पुलिस-पब्लिक ने साहस का परिचय दिया, लपटों के बीच सभी को बाहर खीचकर लाए

फ्लैट में रखा सामान और नकदी जलकर राख, सेल्समैनी कर परिवार का सहारा था राजेश

संजय सिंह / महेश वार्ष्णेय की रिपोर्ट

देखें वीडियो

वृंदावन। आज सुबह कांशीराम आवासीय कॉलोनी के एक फ्लैट से निकली आग की लपटों से लोग सकते में आ गए। चीख पुकार मच गयी। कालोनी के लोग बड़ी संख्या में आग की लपटों में फंसे परिवार के सदस्यों को बचाने में जुट गए। सूचना पर पुलिस पहुंच गयी। पुलिस ने कालोनी के लोगों की मदद से धुआं और आग में घिरे लोगों को बाहर निकाला। गंभीर हालात को देखते हुए सभी को मथुरा हास्पीटल रैफर कर दिया गया। दमकल गाड़ी ने आग पर काबू पाया।
बताया जाता है कि कॉलोनी के ब्लाक छह में प्रथम तल के एफ-3 फ्लैट में राजेश शर्मा (36 वर्ष) अपने परिवार के साथ रहता है। वह सेल्समैन का कार्य करता है। उसके परिवार पत्नी यशोदा शर्मा (33 वर्ष), पुत्र श्याम (8 वर्ष) एवं पुत्र छोटू (5 वर्ष) हैं। उसके कमरे (फ्लैट) से लोगों ने सुबह धुआं निकलते देखा। देखते ही देखते ही आग की लपटें दिखाई देने लगी। जिसने भी आग और धुआं देखा, उसने शोर मचाना शुरु कर दिया। रजाइयों को छोड़कर लोग अपने घरों से बाहर निकल आए। उन्होंने कमरे में पहुंचकर नजारा देखा तो रौंगटे खड़े हो गए। आग की लपटों में परिवार के लोग फंस गए। सूचना पर कोतवाली प्रभारी प्रवीण कुमार मान, अद्धा पुलिस चौकी प्रभारी चंद्रभान सिंह फोर्स के साथ मौके पहुंच गए। पुलिस ने लोगों की मदद से आग की लपटों में फंसे लोगों को बमुश्किल बाहर निकाला। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार परिवार के चारों लोग आग में बुरी तरह से झुलस गए। चारों को संयुक्त चिकित्सालय भेजा, किंतु हालात गंभीर देखकर उनको मथुरा के हास्पीटल में रैफर कर दिया। आग लगने के कारण मालूम नहीं हो सका, हालांकि यह अनुमान लगाया जा रहा है कि संभवत विद्युत शार्ट सर्किट के कारण यह आग लगी है। जिस समय शार्ट सर्किट से आग की चिंगारी निकली होगी, उस समय परिवार के सभी गहरी नींद में होगी। उनको शायद आग लगने का आभास नहीं हुआ होगा। इसलिए वह सोते रह गए। जब तक आग की लपटों में घिर गए तो धुएं के कारण बाहर नहीं निकल सके।

32Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *