स्वास्थ्य कर्मचारियों की आपसी लड़ाई का खामियाजा भुगत रही है जनता।

टीकाकरण वाले कमरे में सुपरवाइजर ने जड़ा ताला

वृन्दावन, बुधवार को गौरा नगर स्थित हैजा अस्पताल पर एक ऐसा ही वाकया देखने को नजर आया। जहां छोटे-छोटे बच्चों की जान के साथ खिलवाड़ हो रहा था। जानकारी करने पर पता लगा आदेश कुमारी नामक एएनएम जोकि बच्चों के टीकाकरण का कार्य करती हैं। जिनकी ड्यूटी हैजा अस्पताल पर महीने के तीसरे और चौथे बुधवार को लगाई जाती है। लेकिन सुपरवाइजर मीना शर्मा से उनकी किसी बात पर बहस हो जाने के कारण उन्होंने वैक्सीनेशन रूम का ताला लगा दिया और वहां से चली गई अस्पताल में मौजूद महिलाएं अपने छोटे बच्चों को टीका लगवाने हेतु आई हुई थी। लेकिन वैक्सीनेशन रूम का ताला बंद होने के कारण वे अपने बच्चों को टीका नहीं लगवा पा रही थी। ताला लगा होने के बावजूद भी सहायक नर्स आदेश कुमारी एक बेंच पर बैठकर बच्चों को टीका लगा रही थी। सबसे बड़ी बात यह है जहां सरकार स्वास्थ्य के प्रति इतने बड़े-बड़े दावे करती है। वही अदने से कर्मचारी अपने आपको स्वास्थ्य विभाग का सरताज समझने लगते हैं। स्वास्थ्य केंद्र पर बच्चों को बेंच पर बैठे बैठे टीकाकरण किस हद तक सही है। इसका फैसला तो स्वास्थ्य विभाग को करना पड़ेगा। इस बीच कोई हादसा हो जाता है तो इसका खामियाजा भी स्वास्थ्य विभाग को ही भुगतना पड़ेगा। स्वास्थ्य अधिकारी भी ऐसे मामले में अनदेखी करते रहते हैं।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *