Mon. Sep 16th, 2019

MATHURA NEWS 24

NO.1 HINDI NEWS CHANNNEL

वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर में हुआ 5000 फलदार पौधों का वितरण

1 min read

वृन्दावन, भक्ति वेदांत स्वामी मार्ग स्थित वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर में रविवार को ओएनजीसी एवं खुशहाली फाउण्डेशन के द्वारा मंदिर परिसर के समीप स्थित 15 गाँवों के लगभग 1000 किसानों को 5000 फलदार पौधों का वितरण किया गया। इस दौरान किसानों को प्रतापगढ़ का अवाला, इलाहाबाद का एल-49 अमरूद, कलमी नीबू, कन्धारी अनार, थाईलैंड की एप्पल बेर व गुच्छेदार बेल सहित अन्य हाइब्रिड क्वालिटी के फलदार पौधे वितरित किए गए।
इस मौके पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहीं सह प्रबंधका हनुमान प्रसाद धानुका बालिका विद्यालय की श्रीमती रेखा माहेश्वरी जी ने कहा कि पर्यावरण के प्रति प्रत्येक मानव की जिम्मेदारी है कि वह इस मौसम में पौधे लगाकर धरती माँ का श्रृंगार करने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभायें। वहीं कार्यक्रम में चंद्रोदय मंदिर के उपाध्यक्ष भरतर्षभा दास ने कहा कि श्रील प्रभुपाद जी चाहते थे कि भारत के किसान गौ आधारित कृषि को बढावा दें। इससे समाज का प्रत्येक व्यक्ति स्वस्थ्य व दीर्घ आयु होगा। उन्होंने आगे कहा कि हम मंदिर प्रांगण के तीस एकड़ भूमि पर द्वादशा कानन वन के प्रतिरूप को पुनः स्थापित करने हेतु प्रयासरत् हैं। हमारा प्रयास होगा कि वृन्दावन आने वाले भक्तों के मन में जो वृन्दावन के वनों को देखने की चाह है वह पूर्ण हो सके। उन्होंने कहा कि संस्था मंदिर के आस-पास के गाँवों में किसानों द्वारा पौधा रोपड़ करा गाँवों को हरा-भरा कर व किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत करने हेतु प्रयास कर रही है। इस दौरान खुशहाली फाउंडेशन के श्री विरेन्द्र भाई जी ने किसानों को मानव जीवन में पौधों की उपयोगिता से रूबरू कराया। उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा ब्रज में यह अद्वितिय कार्यक्रम है जो किसानों के सहयोग से पूर्ण हो रहा है।
इस दौरान कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि समाज सेवी श्री बांके बिहारी शर्मा जी ने किसानों से जल संरक्षण व ग्राम विकास पर जोर दिया। इस अवसर पर श्री विश्वनाथ भाई जी, गोपाल गढ़ प्रधान के प्रधान जयपाल सिंह, बाटी के प्रधान घनश्याम जी, नितिश जी सहित अन्य गावों के लोगों ने भाग लेकर कार्यक्रम को सफल बनाया।

0Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © All rights reserved. | Newsphere by AF themes.